Top 10 Bitcoin, Crypto Exchange & Trading Platforms in India

क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज को डिजिटल करेंसी एक्सचेंज भी कहा जाता है। यह एक ऐसा व्यापार है जिसमें लोग अपने डिजिटल परम शिष्या क्रिप्टोकरेंसीज को दूसरे संपत्तियों के लिए एक्सचेंज हैं। क्क्रेडिट कार्ड पेमेंट, या वायर ट्रांसफर आदि जैसे पेमेंट तरीकों से डिजिटल करेंसी का लेन- देन होता है।

ऐसे कई तरह के क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज होते हैं जीने से कहीं भारत करेंसी एक्सचेंज में भी है, उनमें से निम्नलिखित 10 बेस्ट क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज दिए गए हैं।

यह 2016 के जून में आस्तित्व में आया, यह Alullg Bhatt, Shivam Thakral और Devansh Aggarwal द्वारा बनाया गया है। यह मंच बहुत जल्द ही क्रिप्टो करेंसी के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ बन गया था, और इस मंच ने बहुत कम समय में ही कई निवेशकों का एक बड़ा समुदाय निर्माण कर लिया था।

इसका निर्माण विशेष रूप से ऐसे बनाया गया है ताकि सबके लिए इसे इस्तेमाल करना सरल हो, फिर चाहे वह अनुभवी इन्वेस्टर हो या वह इन्वेस्टर्स जो पहली बार इसके यूज कर रहे है। जब से इसको बनाया गया है, इस प्लेटफॉर्म ने $50 मिलियन USD के ट्रेड को कंडक्ट किया है, और इसने 30 से ज़्यादा cryptocurrencies को आधार देता है, और इस आंकड़े में अभी और भी नाम जोड़े जाएंगे।

डोमेस्टिक crypto currency के व्यापार के मंच में, WazriX को underdog champion माना जाता है, इसका निर्माण 2017 में हुआ था, जब काफ़ी करेंसी एक्सचेंज ज़्यादा मात्रा में इनवेस्टर्स और यूजर्स के बीच डिजिटल करंसी का व्यापार बहुत प्रसिद्ध था। यह मंच, अपने यूजर सर इन्वेस्टर्स की और उनके इन्वेस्टमेंट्स की सिक्योरिटी के लिए नियमित रूप से security audits कंडक्ट करते रहता है। इसकी फीस अक्सर कम से कम 0.1% से 0.2% तक होती है। यह 5 और अलग प्लेटफार्म पर उपलब्ध है जिससे हर डोमेन पर यूजेस सरलता से एक्सचेंज कर पाते हैं।

यह मंच अपने इन्वेस्टर्स को 200 से ज्यादा क्रिप्टो करेंसी एक ही प्लेटफार्म पर कंडक्ट करने की सुविधा प्रदान करता है। जब बात डोमेस्टिक क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज मार्केटिंग की सेफ्टी और सिक्योरिटी की हो, तो यह प्लेटफार्म सबसे ज्यादा सेफ्टी प्रदान करने वाले प्लेटफॉर्म्स में से एक है। इसका फी स्ट्रक्चर मेक अ और टीचर के बीच में हुए क्रिप्टो करेंसी के प्रकार पर निर्भर करता है और जब cross-platform ट्रेड कंडक्ट किए जाते हैं तब यह प्लेटफॉर्म फीस चार्ज करता है।

इसने यूजर्स को क्रिप्टो करेंसी मार्केटिंग के बारे में उसी कीमत, उसके संपर्क, आकर्षक इंटरेस्ट रेट्स, इत्यादि चीजों में अशिष्ट करने के लिए कई प्रोडक्ट्स भी रिलीज किए हैं।

इसका निर्माण एक alumni नामक IIT ग्रुप द्वारा किया गया था। यह 2017 के december में बनाया गया था। कुछ समय पश्चात इस मंच ने स्टॉप लिमिट ऑर्डर्स को इंट्रोड्यूस किया था ताकि जो यूजर या इन्वेस्टर है, ट्रेडिंग के दौरान इस मंच पर अपने लॉसेस को मिनिमाइज कर सके। इसकी फीस अधिकतर 0.03% से 0.25% तक होती है। इसका फीस स्ट्रक्चर 11 अलग-अलग लेवल्स का होता है।

इसे साल 2017 में बनाया गया था, इस प्लेटफार्म को भी उसी डेवलपमेंट टीम ने बनाया था जिस डेवलपमेंट टीम ने CrypDates नामक प्लेटफार्म बनाया था। इस मंच का उद्देश्य अपने यूजर्स व इन्वेस्टर्स को फास्टट्रांजिक्शन स्पीड व ट्रेड एग्जीक्यूशन की सुविधा देना है। इस प्लेटफार्म का फीस स्ट्रक्चर काफी विस्तृत है, और इसकीट्रांजिक्शन फीस एक एक क्रिप्टो करेंसी के हिसाब से अलग-अलग है। इसका फीस स्ट्रक्चर एक यूजर के 30 करेंसी एक्सचेंज दिन के ट्रेडिंग वॉल्यूम पर निर्भर करता है। अपने यूजर्स की accessibility को बढ़ाने के लिए इस प्लेटफार्म ने एक ऐप को मोबाइल पर भी लॉन्च किया है। अपने यूजर्स के assets को सुरक्षित रखने के लिए यह प्लेटफॉर्म काफी मजबूत सिक्योरिटी सिस्टम को अपनाता है।

यह प्लेटफार्म 100 से ज्यादा क्रिप्टो करेंसी को अपने प्लेटफार्म पर होस्ट करता है। और सुनिश्चित करता है कि इन्वेस्टर्स के लिए यह इस्तेमाल करने के लिए आसान हो, ताकि जो नए यूज़र या इन्वेस्टर्स है वह इसकी प्रोसीजर को काफी सरलता से समझ पाए। इस मंच ने अपना एक और वर्जन लॉन्च किया है, जिसका नाम है Coinswitch Kuber जो इसकी तुलना में ज्यादा सरलता से इस्तेमाल किया जा सकता है, और यह ऐप एंड्राइड प्ले स्टोर अथवा एप्पल स्टोर दोनों में पाया जाता है। इनकी ट्रांसलेशन फीस 0.49% है परंतु ट्रांजीक्शन के लिए जिस साधन का उपयोग किया गया है उस हिसाब से फीस में बदलाव होते हैं।

यहां एक ऐसा डोमेस्टिक क्रिप्टो करेंसी प्लेटफार्म है जिसे विशेष इसलिए बनाया था कि यह रुक रुक कर ना चले और इसकी प्रोसेसिंग स्पीड फास्ट हो, ताकि यूजर्स को कोई परेशानी ना हो। इसे इसकी 50,000 ट्रांजैक्शंस एक सेकंड में करने की क्षमता की वजह से इंटरनेशनली जाना जाता है। इसके साथ साथ यह प्लेटफार्म स्टेबिलिटी की भी गारंटी देता है, जबकि ऑर्डर्स की संख्या एक बार में मिलियंस तक होती है। इसका फीस शेड्यूल हर buy order पर 0.25 है, और हर sell order par 0.15 होता है ।

यह platform क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंजेस के फील्ड में सबसे उत्तम प्लेटफॉर्म्स में से एक है। इसका निर्माण साल 2015 में किया गया था। इस मंच ने आज तक लगभग 3 मिलीयन यूजर्स को सर्व किया है। इसका fee structure काफी विस्तृत है जो तीन अलग भागों में होता है। पहली होती है maker fee, जो 0.15% है, यह तब लागु की जाती है जब जो आर्डर प्लेस किया गया है वह तुरंत मैच नहीं होता। Taker fee, अर्थात वह फीस जब order को निष्पादित कर दिया जाता है, यह 0.25% होता है। इंट्राडे fee, जो उसट्रांजिक्शन पर होता है जो, आधी रात को किया गया है, यह 0.10% होता है। नेट बैंकिंग से किए गए ट्रांजैक्शंस पर यह प्लेटफार्म कमीशन (1.75 परसेंट) भी चार्ज करता है।

यह सबसे पुरानी क्रिप्टो करेंसी ट्रेन में से एक है। इसका निर्माण 2013 में हुआ था। जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा क्रिप्टो करेंसी ट्रेडिंग का बैन हटाया गया था, उसके पहले से या प्लेटफार्म बनाया गया है। इसका fee structure 0.7% है, जो इस प्लेटफार्म पर हुए गए ट्रांशिक्शन पर निर्भर करता है। अपने यूजर्स को और पहुंच दिलवाने के लिए इस प्लेटफार्म ने एक ऐप भी बनाया है।

इस प्लेटफार्म पर एक ट्रस्ट फैक्टर नामक सिस्टम है जो दूसरे ट्रेडर्स को सेलर्स ढूंढने में सहायता करता है। इसके fee structure में, पहले 500000 जंक्शन पर कोई फीस नहीं चार्ज की जाति, परंतु उसके बाद हरट्रांजिक्शन पर $1 चार्ज किए जाते हैं, हर ट्रांजिक्शन पर उसका एक परसेंट चार्ज किया जाता है।

निष्कर्ष

आज का हमारा यह आर्टिकल जिसमें हमें बेस्ट 10 क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म के बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाई है। मुझे पूरी उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से संबंधित कोई सवाल है। तो वह हमें कमेंट के माध्यम से बता सकता है।

करेंसी एक्सचेंज चिन्ह 💱

यह इमोजी करेंसी बदलने के चिन्ह को दर्शाती है. इसका मतलब है कि करेंसी बदल रही है. यह एक जगह से दूसरी जगह पैसा बदलने को भी दर्शाती है.

💱 करेंसी एक्सचेंज चिन्ह यूनिकोड 6.0 के लिए एक पूर्णतः- योग्य इमोजी है, जिसे 2010 में शुरू किया गया था.

इस इमोजी को खोजने के लिए आप निम्न कीवर्ड्स का प्रयोग कर सकते हैं: मुद्रा विनिमय | धन | पैसे | मुद्रा | विनिमय

करेंसी एक्सचेंज चिन्ह 💱

यह इमोजी करेंसी बदलने के चिन्ह को दर्शाती है. इसका मतलब है कि करेंसी बदल रही है. यह एक जगह से दूसरी जगह पैसा बदलने को भी दर्शाती है.

💱 करेंसी एक्सचेंज चिन्ह यूनिकोड 6.0 के लिए एक पूर्णतः- योग्य इमोजी है, जिसे 2010 में शुरू किया गया था.

इस इमोजी को खोजने के लिए आप निम्न कीवर्ड्स का प्रयोग कर सकते हैं: मुद्रा विनिमय | धन | पैसे | मुद्रा | विनिमय

ED जांच की आंच, क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज WazirX के बैंक खाते कुर्क

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज वजीरएक्स (WazirX) के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ED) की जांच अब तेज होती जा रही है. ईडी ने कंपनी के एक डायरेक्टर के परिसरों पर तलाशी ली है. वहीं कंपनी से जुड़े बैंक खातों को कुर्क करने का आदेश दिया है.

WazirX के बैंक खाते कुर्क

दिव्येश सिंह

  • मुंबई,
  • 05 अगस्त 2022,
  • (अपडेटेड 05 अगस्त 2022, 6:49 PM IST)
  • WazirX के दावों में आ रहा फर्क
  • फिनटेक कंपनियों ने की हेरा-फेरी

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज वजीरएक्स (WazirX) की मुश्किलें बढ़ती जा रही है. प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने Zanmai Lab Pvt. Ltd. के डायरेक्टर्स में से एक के परिसरों की तलाशी ली है. ये कंपनी वजीरएक्स पर मालिकाना हक रखती है. जांच एजेंसी ने जांच को आगे बढ़ाते हुए कंपनी से जुड़े बैंक खातों को कुर्क कर दिया है. बताया जा रहा है कि इन खातों में करेंसी एक्सचेंज कुल 64.67 करोड़ रुपये का बैंक बैलेंस है.

चल रही मनी लॉन्ड्रिंग की जांच

प्रवर्तन निदेशालय कई भारतीय गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों (NBFC) के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग को लेकर जांच कर रही है. इसी के साथ उनकी सहयोगी फिनटेक कंपनियों के खिलाफ भी RBI के लोन देने के दिशानिर्देशों के उल्लंघन और निजी डेटा के दुरुपयोग और लोन पर ज्यादा ब्याज वसूलने के लिए कर्जदारों के साथ अभद्र भाषा में बात करने और धमकाने की जांच भी जारी है.

सम्बंधित ख़बरें

छात्र की मौत की गुत्थी उलझी, क्रिप्टो-शेयर मार्केट में हुआ था नुकसान
क्या क्रिप्टो करेंसी का बुलबुला फूट रहा है? Bitcoin से Dogecoin तक बेहाल
HTC का पहला मेटावर्स स्मार्टफोन लॉन्च, जानें खासियत और कीमत
FBI की टॉप मोस्ट वांटेड लिस्ट में 'क्रिप्टो क्वीन', 1 लाख डॉलर का इनाम

सम्बंधित ख़बरें

जांच एजेंसी का कहना है कि कई फिनटेक कंपनियों में चीनी कंपनियों का निवेश है और वो आरबीआई से एनबीएफसी का लाइसेंस नहीं ले सकी. ऐसे में कर्ज का कारोबार करने के लिए उन्होंने MoU का रास्ता अपनाया और बंद हो चुकी एनबीएफसी कंपनियों के साथ करार किया, ताकि उनके लाइसेंस पर काम कर सकें.

फिनटेक कंपनियों ने की हेरा-फेरी

जब इस मामले में आपराधिक जांच शुरू हुई, तो इनमें से कई फिनटेक कंपनियों ने अपनी दुकानें बंद कर दी और इससे कमाए गए भारी मुनाफे के पैसे की हेरा-फेरी की. जांच में ये भी पाया गया कि फिनटेक कंपनियों ने इस पैसे से बड़े स्तर पर क्रिप्टो करेंसी खरीदी और फिर इन पैसों को विदेश भेज दिया. ईडी का कहना है कि अभी इन कंपनियों और वर्चुअल एसेट का कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है.

WazirX के दावों में आ रहा फर्क

जांच एजेंसी ने इस मामले में क्रिप्टो एक्सचेंज कंपनियों को समन जारी किए हैं. ये देखा गया है कि सबसे ज्यादा पैसों का लेन-देन वजीरएक्स के साथ हुआ और खरीदे गए क्रिप्टो एसेट किसी अनाम विदेशी वॉलेट में डाइवर्ट कर दिए गए.

ईडी का कहना है कि वजीर क्रिप्टो एक्सचेंज ने अमेरिका, सिंगापुर की कई क्रिप्टो एक्सचेंज कंपनियों के साथ वेब एग्रीमेंट किए. लेकिन अब वजीरएक्स के एमडी निश्चल शेटटी से मिली जानकारी और जैनमई के दावों में अंतर पाया गया है. इसी को ध्यान में रखते हुए ईडी ने अपनी जांच का दायरा बढ़ाते हुए कंपनी के बैंक खातों को कुर्क कर दिया है.

रेटिंग: 4.41
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 394