एयूएम कैपिटल के रिसर्च प्रमुख राजेश अग्रवाल (Rajesh Agarwal) ने गुरुवार (22 दिसंबर) के एकदिनी कारोबार (intraday trade) के लिए विजय डायग्नॉस्टिक सेंटर (Vijaya Diagnostic Centre), एस्टर डीएम हेल्थकेयर (Aster DM Healthcare), ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स (Glenmark Pharmaceuticals), शॉपर्स स्टॉप (Shoppers Stop) और ओरियंट इलेक्ट्रिक (Orient Electric) के शेयर खरीदने की सलाह दी है।

What is stop loss? and it's importance. ( trading में stop loss क्यों जरुरी है? )

यह सवाल हमने कई बार सुना है l और आज हम आपको बिलकुल साफ़ करा देंगे की ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? आखिर शेयर बाज़ार में stoploss है क्या ? तथा इसकी जरुरत क्यों है ? वास्तव में यह सवाल सिर्फ नए traders के दिमाग में आता है, क्यूंकि पहले से ट्रेडिंग करने वालो को यह अच्छी तरह पता होता है| तो अब बात कर लेते है हम stoploss के बारे में , जैसा की इसके नाम से ही पता चल रहा ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? है, की यह system हमारे loss या घाटे को एक निश्चित तय सीमा पर नियंत्रित या रोक देता हैl अत : जब हम शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करते है और हम जब कोई call या put buy करते है और मार्किट की दिशा हमारे आंकड़ो के विपरीत जाती है तो हमें loss या घाटा होने लगता है |


तो इसी घाटे को निश्चित सीमा पर रोकने या नियंत्रित करने के लिए एक एसा अल्गोरिदम use किया जाता है, जिसे हम अपनी इच्छा के अनुसार घाटे की सीमा तय करने के लिए लगा देते है, और जब शेयर बाज़ार उस सीमा पर पहुँचता है और उस तय किये हुए सीमा को छूता है तो stoploss अपना काम करदेता है |

अर्थात आपकी positions को exit करदेता है जिससे आपका नुक्सान आपके अनुसार नियंत्रित रहता है l कुल मिलकर बात यह है की इसका इस्तेमाल करने पर आपका loss या घाटा तो नियंत्रित होता है लेकिन आप अपने अनुसार मुनाफा को जब चाहे बेच सकते है | S toploss सभी ट्रेडिंग platforms पर उपलब्ध होता है, आज हम आपको GROWW APP में stoploss लगाना सीखाएँगे, और एक बात का ध्यान रखना की आप इसी प्रकार stoploss लगायेंगे चाहे फिर option ट्रेडिंग हो या फिर intraday, निचे हमने एक video link दिया है, जिसमे आपको साफ़ साफ़ बताया गया है की आप stoploss कैसे इस्तेमाल करते हैl और हमारा youtube चैनल भी जरुर subscribe करलें जहा आपको शेयर बाज़ार से सम्बंधित updates डेली मिलती है l

ट्रेलिंग स्टॉप लोस क्या है ?

जब आप ट्रेड लेते है तो आप स्टॉप loss लगते है ताकि आपका नुक्सान आपके नियंत्रण में रहे और जब ट्रेड आपके अनुमान के अनुसार आगे बढती है और आपको मुनाफा होने लगता है तो मुनाफे के साथ साथ आप अपना स्टॉप लोस भी ट्रेड की दिशा में चलाने लगते है जिसे ट्रेलिंग स्टॉप loss कहा जाता है ओर इस प्रकार अर्जित मुनाफे को ट्रेलिंग अर्निंग कहते है | अब ये तो बात हो गयी stop loss क्या है ? और ट्रेलिंग स्टॉप लोस क्या है ? लेकिन stoploss का सही स्तेमाल भी आना चाहिए l तो stoploss को सही स्तेमाल करने के भी कई methods है, जैसे : percentage method, support and resistant method, जिनकी जानकारी आपको निचे दी गयी है |

BEST STOP LOSS METHODS IN TRADING

1. Percentage method : अधिकांश traders इसका उपयोग करते है, इस method में profit और loss ratio 90 % और 10 % होता है , थोडा बहोत ऊपर निचे हो सकता है l उदाहरण के लिए, यदि आपने intraday या option ट्रेडिंग में कोई शेयर 100 rs का ख़रीदा है, तो आप ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? stoploss लगा सकते है जब उसका price 90 rs तक गिरे तो आपका stoploss hit कर जाये और आपका टारगेट 90 rs का मुनाफा होगा l लेकिन यहाँ दिक्कत यहाँ है की नए traders के लिए यह थोडा मुस्किल हो सकता है, क्यूंकि हमने इसे सिर्फ एक शेयर के उदाहरण से बताया लेकिन अगर शेयर या लोट ज्यादा हो तो नए ट्रेडर को profit तथा loss की प्रतिशतता निकालना थोडा मुश्किल हो सकता है l इसलिए अगला तरीका आपके लिए अच्छा साबित हो सकता ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? है l

2. Support and resistant method : शेयर बाज़ार एक स्थिर या एक रेखा में नहीं चलता यह कभी थोडा ऊपर या निचे जाता रहता है, जहा पर बाज़ार बार बार आकर ऊपर उठ जाता है, उसे support तथा जिस लेवल से निचे आता है उसे resistant कहते है, जेसे की निचे दिखाया गया है l अत: यदि आपने कोई शेयर 1000 rs में ख़रीदा है तो आप अपना stoploss ट्रिगर price 900 rs पर लगा सकते है, इसलिए जब शेयर का price 1000 से गिरकर 900 तक आता है तो आपका stoploss ट्रिगर hit हो जाता है और आपकी position तुरंत exit हो जाएँगी और आपका घाटा या loss नियंत्रित रहेगा l

शेयर मार्केट में स्टॉप लॉस क्या होता है शेयर बाजार के नियम

S L kashyap अप्रैल 10, 2020 0

शेयर मार्केट में stop-loss क्या है square of order क्या हैं trigger piece क्या है Cass on carry और mic order क्या है उपयुक्त बहुत सारे शब्द जो शेयर मार्केट में प्रयोग किए जाते हैं जैसे कि stop-loss , square of order , trigger price, Cass on carry , mic order इंट्राडे ट्रेडिंग इक्विटी और कमोडिटी , ऑप्शन और फ्यूचर आदि शब्दों के बारे में संपूर्ण जानकारी

Stop loss क्या है

मान लीजिए कोई भी शेयर आपने ₹100 प्रति शेयर के हिसाब से खरीदा और वह ₹100 से नीचे ट्रेड करने लगा तो आपको जाहिर है नुकसान होने लगेगा इसी नुकसान को रोकने के लिए stop-loss का आर्डर लगाते हैं जैसे आपने ₹100 प्रति शेयर खरीदा है तो stop-loss का आर्डर अपनी समर्थ अनुसार ₹95 के आसपास लगाकर ऑर्डर कर देते हैं इस आर्डर में आपके शेयर बिकेंगे नहीं जब तक आपका शेयर ₹95 पर नहीं आ जाएगा और जैसे ही सर आपका ₹100 से 95 के भी नीचे ₹80 ₹75 में चला जाएगा तो आपको stop-loss ऑर्डर के वजह से ₹95 में ही बिक जाएगा और ₹5 पर शेयर के हिसाब से आपका नुकसान ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? फिक्स हो जाएगा जबकि मौजूदा शेयर की कीमत ₹80 प्रति शेयर पहुंच चुकी होगी
और यहीं शर्त सेल करने पर भी लागू होगी मान लो कोई भी शेयर ₹100 ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? पर शेयर के हिसाब से आप सेल करते हैं और वह शेयर 101/ 102 रुपए में पहुंच जाता है तो आपको लॉस होने लगेगा उसी लॉस को रोकने के लिए मान लीजिए आप ने ₹105 में stop-loss लगा दिया है यदि ₹105 से ऊपर अगर शेर जाएगा तो आपको ₹5 पर शेयर का स्टॉपलॉस बुक हो जाएगा अब वहां से 110/ 115 में जाने से भी आपका ₹5 पर शेयर के हिसाब से लॉस बुक हो जाएगा
स्टॉप लॉस लगाने से आपको ज्यादा नुकसान की संभावनाएं कम हो जाती है

स्क्वायर ऑफ क्या है

Square of order आर्डर का अर्थ होता है कोई भी शेयर आपने buy किया है तो sell पर चला जाएगा और अगर sell किया है तो वह buy पर आ जाएगा इसको square of order का यही अर्थ होता है मान लीजिए एसबीआई का शेयर अपने खरीदें जैसे ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? ही आप उसको स्क्वायर ऑफ कर देंगे वैसे ही वह बिक्री के लिए ऑर्डर तैयार हो जाएगा और स्क्वायर आफ करेंगे तो वह बाय के लिए आर्डर तैयार हो जाएगा

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है

Intraday trading का अर्थ सिर्फ 1 दिन के लिए खरीदे और बेचे गए शेयरों की खरीद-फरोख्त से होता है इंट्राडे ट्रेडिंग में सुबह मार्केट ओपन ओपन होने के बाद और शाम को मार्केट बंद होने से 15 मिनट पहले तक आपको वह शेयर खरीदे हैं तो बेचना पड़ेगा और अगर बेचे हैं तो खरीदना पड़ेगा इंट्राडे ट्रेडिंग में एक ही दिन में आपको शेयर की खरीद बिक्री करनी होगी उन शेयरों को आप होल्ड में नहीं रख सकते इंट्राडे शेरों को अगर आपने मार्केट बंद होने से पहले स्क्वायर नहीं किया तो कंप्यूटर ऑटोमेटिक स्क्वायर ऑफ आर्डर लगा देना


ट्रिगर प्राइस क्या है

Trigger price स्टॉप लॉस का एक सहायक आर्डर है जैसे आपने ₹100 का कोई शेर खरीदा है और वह खरीदे भाव से नीचे ट्रेड करने लगा तो कम नुकसान उठाने के लिए आप स्टॉपलॉस का आर्डर लगाएंगे कि ₹5 से ज्यादा पर शेर का नुकसान मैं नहीं उठा सकता तो ₹95 का स्टॉपलॉस लगा देंगे स्टॉपलॉस लगाते समय एक दूसरे विकल्प में ट्रिगर प्राइस का भी ऑप्शन आता है स्टॉप लॉस में आपने ₹95 लगाए हैं तो ट्रिगर प्राइस में आपको ₹95 से ऊपर का रेट डालना पड़ेगा जैसे 95 रुपए 50 पैसा का trigger प्राइस लगाएंगे

कैश एंड कैरी ऑर्डर

Cash and carry order में आपके वॉलेट में जितने रुपए होंगे उसी के हिसाब से आपको शेयर मिलेंगे और आप उन शेयरों को होल्ड पर रख सकते हैं उनको 1 साल 2 साल बाद भी बेच सकते हैं


mic order किसे कहते हैं

एमआईसी ऑर्डर इंट्राडे ट्रेनिंग के लिए होता है एमआईसी आर्डर में आपको अपने वैलेट में मौजूदा रकम से कई गुना ज्यादा तक के शेयर खरीदने का मौका दिया जाता है जैसे आपके वॉलेट में ₹1000 हैं तो आपको कई गुना तक शेयर खरीद और बेच सकते हैं यह आर्डर सिर्फ 1 दिन के लिए ही वैध होता है एमआईसी आर्डर में आप शेयरों को होल्ड नहीं कर सकते

स्टॉप लॉस ऑर्डर क्या है और इसका इस्तेमाल करके कैसे कमा सकते हैं प्रॉफिट

स्टॉक मार्केट काफी हद तक भावनाओं से चलता है। ऐसे में स्टॉक में इन्वेस्टमेंट से आपको जितना प्रॉफिट होता है उतना भी नुकसान होने का डर रहता है। आपको बता दें कि स्टॉप लॉस इसी नुकसान से बचने के लिए बेहतर तरीका है।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। शेयरों में इन्वेस्टमेंट करने में स्टॉप लॉस और टारगेट प्राइस का बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता है। क्या होता है इसका मतलब। आइए, इनके बारे में जानने की कोशिश करते हैं।

5paisa के साथ शुरू करें निवेश का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

बता दें कि, आपका स्टॉक ब्रोकर हर शेयर के लिए एक टारगेट प्राइस के बारे में बताता है। मान लीजिये कि आप XYZ कंपनी का शेयर को खरीदना चाहते हैं। फिलहाल इसकी प्राइस 100 रुपये है। आपको ब्रोकर बताएगा कि 3 मंथ में इसकी प्राइस बढ़कर 120 रुपये हो जाएगी। कहने का मतलब है कि आपने 100 रुपये की प्राइस पर XYZ के शेयर को 120 रुपये के टार्गेट प्राइस के साथ अगर खरीदा है तो आप 120 रुपये की प्राइस पर पहुंचने पर इस शेयर को बेचकर हासिल कर सकते हैं। वहीं इस शेयर में काही गिरावट के दौर में तो इसकी प्राइस 100 रुपये से कम होने पर आपको नुकसान उठाना पड़ सकता हैं। लेकिन नुकसान से बचने के लिए आपको स्टॉप लॉस लगाने की सलाह दी जाती है। मान लीजिए कि इस स्टॉक के मामले में आपको 90 रुपये की प्राइस पर स्टॉप लॉस लगाने की सलाह दी जाती है। इसका मतलब यह हुआ कि किसी कारणवश XYZ के स्टॉक में कमजोरी आने पर उसे 90 रुपये में बेच देना ही सही रहता है।

Keep these important things in mind before opening a Demat Account

क्या है स्टॉप लॉस

स्टॉप लॉस वह मूल्य होता है जिस पर आप अपने शेयर सेल कर देते हैं। स्टॉप लॉस प्राइस पर स्टॉक बेच देने की वजह से आप बड़े नुकसान से बच जाते हैं। बता दें कि, किसी शेयर का स्टॉप लॉस वह मूल्य होता है जिस पर आपको अधिक नुकसान नहीं होता है। वहीं, किसी शेयर की करेंट प्राइस पर उसमें संभावित नुकसान की सीमा को तय कर सकते हैं। साथ ही, आप स्टॉप लॉस लगाते हैं, जिससे आपको नुकसान कम हो जाता है।

PPF account pre maturity closure, Know all details

स्टॉप लॉस का इस्तेमाल प्रयोग इसलिए किए जाते हैं जिससे स्टॉक मार्केट के उतार-चढ़ाव के दौर में आप नुकसान से बच सकते हैं। स्टॉक मार्केट काफी हद तक भावनाओं से चलता है। ऐसे में स्टॉक में इन्वेस्टमेंट से आपको जितना प्रॉफ़िट होता है, उतना भी नुकसान होने का डर रहता है। आपको बता दें कि स्टॉप लॉस इसी नुकसान से बचने के लिए बेहतर तरीका है। स्टॉप लॉस लगाने का यह भी एक फायदा होता है कि अगर आप नियमित रूप से ट्रेडिंग नहीं ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? करते और अपने इन्वेस्टमेंट को रेगुलर मॉनीटर नहीं कर सकते हैं तो ये आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। वहीं स्टॉप लॉस के जरिए वास्तव में इस स्थिति में आपको कई खतरों से बचा सकता है। आपको बता दें कि, स्टॉप लॉस शॉर्ट टर्म के लिए तो बहुत महत्वपूर्ण होता है, लेकिन अगर किसी को लॉंग टर्म के लिए इन्वेस्टमेंट करना है तो फिर उसके लिए इसका कोई बहुत अधिक महत्व नहीं होता है। आपको इस बात के लिए खुद को तैयार होना चाहिए कि शेयर मार्केट में कभी भी कोई चेंज हो सकता है।

अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो आज ही जाएं 5paisa.com पर और अपने निवेश के सफर को और भी बेहतर बनाएं। साथ ही DJ2100 - Coupon Code के साथ बनाइये अपना Demat Account 5paisa.com पर और पाएं ऑफर्स का लाभ।

India Post Office Recruitment 2023 भारतीय डाक विभाग में 8वीं पास के लिए बंपर पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी आवेदन शुरू

India Post Office Recruitment 2023 भारतीय डाक विभाग में 8वीं पास के लिए बंपर पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी आवेदन शुरू: इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2023 का नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2023 के लिए अलग-अलग प्रकार के पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया जिसके लिए ऑफलाइन मोड में आवेदन मांगे गए हैं भारतीय डाक विभाग भर्ती 2023 के लिए आवेदन फॉर्म शुरू हो चुके हैं जिसके लिए अंतिम तिथि 9 जनवरी 2023 शाम 5:00 बजे तक रखी गई है भारतीय डाक विभाग भर्ती 2023 के लिए योग्यता, आयु सीमा, एप्लीकेशन फीस व अन्य संपूर्ण जानकारी नीचे दी गई है अभ्यर्थी आवेदन करने से पूर्व एक बार ऑफिशल नोटिफिकेशन अवश्य देख लें।

India Post Office Recruitment 2023

India Post Office Recruitment 2023 Application Fees

इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2023 के लिए किसी भी प्रकार का कोई आवेदन शुल्क नहीं रखा गया है।

यह भी पढ़े

India Post Office Recruitment 2023 Age Limit

इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2023 के लिए आयु सीमा कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम 30 वर्ष तक रखी गई है आयु की गणना 1 जुलाई 2022 के अनुसार की जाएगी इसके अलावा अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग को सरकारी नियमानुसार छूट दी जाएगी।

India Post Office Recruitment 2023 Education Qualification

इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2023 के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से 8वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए इसके अलावा अभ्यर्थी का संबंधित ट्रेड में सर्टिफिकेट और डिप्लोमा चाहिए।

India Post Office Recruitment 2023 Selection Process

कुशल कारीगरों का चयन संबंधित ट्रेड में पाठ्यक्रम के आधार पर प्रतिस्पर्धी ट्रेड टेस्ट के माध्यम से आवश्यक योग्यता रखने वाले उम्मीदवारों में से किया जाएगा। हॉल परमिट के साथ पात्र उम्मीदवारों को पाठ्यक्रम, तिथि, स्थान और अवधि आदि के बारे में सूचित किया जाएगा।

How To Apply India Post Office Recruitment 2023

इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2023 के लिए ऑफलाइन मोड में आवेदन करना होगा इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2022 के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले अभ्यर्थी को दिए गए आवेदन पत्र को अच्छे से भरना है इसमें पूछी गई सभी जानकारी सही-सही भरनी है इसके पश्चात आवश्यक डॉक्यूमेंट इसके साथ में सेल्फ अटेस्टेड के साथ लगाने हैं आवेदन फॉर्म में एक फोटो और सिग्नेचर करना होगा संपूर्ण रुप से आवेदन फॉर्म भरने के बाद में आपको दिए गए पते पर इसको भेजना होगा।

  • The separate application should be sent for each trade in separate envelope if applied for more than one trade and the candidate should superscribe on the envelope & application specifically as “Application for the post of Skilled Artisan in trade_ and should be addressed to “The Senior Manager (JAG), Mail Motor Service, No.37, Greams Road, Chennai- 600 006” and should be sent through Speed post / Registered post only. Applications received by any other means will be rejected and one application for multiple trades will also be rejected.
  • The last date of receipt of application is on or before 09.01.2023 by 17.00 Hours. Application(s) without complete information or without copies of ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? desired certificates or the application(s) enclosing copy/copies of the certificate(s) without self attestation will be rejected straight way without any notice or information.

India Post Office Recruitment 2023 Important Links

India Post Office Bharti 2023 Form StartStart
India Post Office Bharti 2023 Form Last Date09/01/2023 5PM
Application FormClick here
Official NotificationClick here
Official WebsiteClick here
Join Whatsapp GroupClick here
Join TelegramClick Here

India Post Office Recruitment 2023 कब तक भरे जाएंगे?

इंडिया पोस्ट आफिस भर्ती 2023 के लिए आवेदन फॉर्म 9 जनवरी शाम 5:00 बजे तक भरे जाएंगे।

India Post Office Recruitment 2023 के लिए आवेदन कैसे करें?

इंडिया पोस्ट ऑफिस भर्ती 2023 के लिए आवेदन करने की संपूर्ण प्रोसेस और एप्लीकेशन फॉर्म ऊपर दिया गया है।

गुरुवार, 22 दिसंबर के लिए राजेश अग्रवाल (Rajesh Agarwal) के चुनिंदा शेयर

rajesh agarwal cd equisearc

एयूएम कैपिटल के रिसर्च प्रमुख राजेश अग्रवाल (Rajesh Agarwal) ने गुरुवार (22 दिसंबर) के एकदिनी कारोबार (intraday trade) के लिए विजय डायग्नॉस्टिक सेंटर (Vijaya Diagnostic Centre), एस्टर डीएम हेल्थकेयर (Aster DM Healthcare), ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स (Glenmark Pharmaceuticals), शॉपर्स स्टॉप (Shoppers Stop) और ओरियंट इलेक्ट्रिक (Orient Electric) के शेयर खरीदने की सलाह दी है।

इन सौदों के लिए राजेश अग्रवाल की सलाह इस प्रकार है :
Scrip Close Call Stop Loss Target

Vijaya Diagnostic Centre 476.25 BUY 453.ट्रेडिंग करते समय STOP LOSS कैसे लगाए? 00 500.00
Aster DM Healthcare 235.05 BUY 226.00 245.00
Glenmark Pharmaceuticals 440.40 BUY 420.00 465.00
Shoppers Stop 694.65 BUY 676.00 715.00
Orient Electric 275.05 BUY 268.00 283.00

ध्यान रखें कि यह सलाह एकदिनी कारोबार के लिए है।

स्पष्टीकरण : इन शेयरों में विश्लेषक या उनके ग्राहकों के हित जुड़े हो सकते हैं।

रेटिंग: 4.29
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 801